ब्रेकिंग न्यूज़ 

सीनियर विधायक लालबत्ती के लिए परेशान…

एक बड़े राष्ट्रीय दल के सीनियर विधायक अपनी गाड़ी पर लालबत्ती लगाने के लिए परेशान रहते है। 24 साल पहले तक राज्यमंत्री थे। इस बार बजट सत्र के आखिरी दिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से विधानसभा में कह बैठे कि आप जरा सा संशोधन करवा दीजिए तो विधायकों को लालबत्ती मिल जायेगी। दिल्ली में विधायकों को लालबत्ती मिली है। उधर 5 अगस्त को सर्वोच्च न्यायालय ने कहा था कि लालबत्ती का दुरूपयोग समाज के लिए खतरा है। इसे हर हाल में रोका जाना चाहिए। जो इसका दुरूपयोग करे उस पर जुर्माना हो। अब बेचारे इन सीनियर विधायक का क्या होगा और कैसे इनको लालबत्ती मिल पायेगी। राज्य सरकार भी सर्वोच्च न्यायालय का सम्मान ही करेगी।
बेचारे पूर्व सांसद खुद गिरफ्तार होने थाने पहुंचे…
लखनऊ के पड़ोस में एक जिले के पूर्व सांसद जो सत्ताधारी दल के हैं, खुद थाने चले गये और पुलिस से कहा कि उनको गिरफ्तार कर लिया जाए कुछ साल पहले मैंने अपराध किया था। तब इन पूर्व सांसद ने तत्कालीन मुख्यमंत्री का पुतला फूंका था इन पर केस दर्ज हुआ था तब भाग गये थे। इसके बाद सत्ता परिवर्तन हो गया और इन पूर्व सांसद की पार्टी सत्ता में आ गयी। लेकिन इन पूर्व सांसद का इस बार पार्टी मुखिया ने लोकसभा का टिकट काट दिया। अब बेचारे क्या करें। खुद थाने पहुंच गये ताकि पार्टी नेतृत्व की गुड बुक में आ जाये और हमदर्दी में लोकसभा का टिकट शायद फिर मिल जाये। राजनीति के लिए नेता क्या-क्या हथकंडे अपनाते है कहा नहीं जा सकता। जब असली अपराध करते हैं चाहे वह हत्या ही क्यों न हो तब भी पुलिस पर रोब झाड़ते है और फिर सत्ताधारी पार्टी का नेता हो तो पुलिस यूं ही दूसरी तरफ मुंह मोड़ लेती है और तीन बंदरों वाला सिद्धांत अपनाती है न कुछ देखा न कुछ सुना और न कुछ बोला।
 श्रीकान्त शर्मा

лобановский александрfrench to english translation online free

Leave a Reply

Your email address will not be published.