ब्रेकिंग न्यूज़ 

चुकंदर के गुण अनेक

स्थानीय बाजारों में बहुतायत में मिलने वाला चुकंदर, अत्यंत पोषक होता है। यह विटामिन और मिनरल का एक बड़ा स्रोत होता है। चुकंदर मीठा होता है, लेकिन कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। निम्न रक्तचाप : चुकंदर का रस उच्च रक्तचाप से पीडि़त व्यक्ति को राहत देता है। लंदन के क्वीन मैरी विश्वविद्यालय के चिकित्सकों ने हजारों स्वयंसेवकों का अध्ययन किया और उनके खून के नमूनों की जांच की। उच्च रक्तचाप से पीडि़त व्यक्तियों को डॉक्टरों ने चुकंदर का जूस दिया और चिकित्सकीय निगरानी में रखा। अध्ययन में साबित हुआ कि चुकंदर का जूस पीने से खून में निट्रिक ऑक्साइड के प्रतिशत में वृद्धि होती है, जो शरीर में खून के संचरण में सहायक होता है। चुकंदर में पाया जाना वाला नाइट्रेट, हृदय के कपाटों को मजबूत करता है और रक्तचाप को नियंत्रित रखता है।

हृदय के लिए लाभकारी : चुकंदर में बड़ी मात्रा में घुलनशील फाईबर, फ्लेवनॉएड्स और बिटासाइनिन पाया जाता है। बिटासाइनिन के कारण ही चुकंदर का रंग लाल होता है, जो एक शक्तिशाली ऐंटीऑक्सिडेंट भी है। यह एलडीएल कोलेस्ट्रोल के ऑक्सीकरण प्रक्रिया में मदद करता है और धमनियों की दीवारों पर रुकावट पैदा होने से रोकता है। यह हृदयाघात रोकता है और लाल कोशिकाओं और पोटेशियम के उत्पादन में सहायक होता है।

यकृत के लिए लाभदायक : चुकंदर को यकृत की सुरक्षा करने वाले खाद्य के रूप में जाना जाता है। यह यकृत के लिए बेहतरीन टॉनिक का काम करता है। यह खून को साफ करने और कैंसर को रोकने में सहायक होता है।

मनोविकार में लाभदायक : चुकंदर शुरूआती पागलपन को दूर कर मस्तिष्क के स्वस्थ कामकाज करने में सहायक होता है।

मधुमेह का नियंत्रण : चुकंदर वसाहीन और कम कैलोरी वाले शर्करा से युक्त होता है। इसमें मध्यम ग्लाइकेमिक इंडेक्स भी होता है। मध्यम ग्लाइकेमिक इंडेक्स, शर्करा को खून को धीमी गति से प्रवाहित करता है। इससे ब्लड शुगर को नीचे रखने में मदद मिलती है।

अल्परक्तता के निवारण में सहायक : चुकंदर में बहुतायत में लोहा सम्मिलित होता है। लोहा हिमोग्लोबिन के निर्माण में सहायक होता है और ऑक्सिजन सहित अन्य पोषक तत्वों को शरीर के दूसरे भागों तक पहुंचाने में मदद करता है। इससे अल्परक्तता की समस्या दूर होती है।

गर्भवती महिला : चुकंदर में मौजूद फोलिक एसिड गर्भवती महिलाओं और गर्भस्थ शिशुओं के लिए बहुत लाभकारी होता है। यह गर्भावस्था के दौरान जरूरी अतिरिक्त ऊर्जा की कमी को पूरा करता है।

स्वस्थ अस्थि : चुकंदर में सिलिकन नामक तत्व होता है, जो शरीर में कैल्शियम के प्रभावी उपयोग का प्रमुख कारक होता है। एक कप चुकंदर का रस ऑस्टियोपोरोसिस, हड्डियों की कमजोरी संबंधी विकारों को दूर करता है। ऊर्जा : चुकंदर में मिलने वाला नाइट्रेट का उच्चतम स्तर, धमनियों के फैलाव में मदद करता है और शरीर के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सिजन के प्रवाह को सुनिश्चित करता है। यह शरीर में ऊर्जा के स्तर को बढ़ाता है और उसमें मौजूद लोहा शारीरिक शारीरिक सहनशक्ति को बढ़ाता है।
अवसाद में लाभकारी : चुकंदर में पाया जाने वाला बिटाइन अवसाद को खत्म करने में मददगार होता है।

अन्य फायदे : एक कप चुकंदर (लगभग 170 ग्राम) से एक दिन में शरीर के लिए जरूरी विटामिन ‘सी’ का 10 प्रतिशत प्राप्त होता है। चुकंदर एक प्रमुख ऐंटीऑक्सिडेंट होता है, जो बड़ी मात्रा में शरीर को फाईबर उपलब्ध कराता है। एक कप कटे हुुए चुकंदर में किसी भी व्यक्ति के एक दिन की शारीरिक जरूरत का 35 प्रतिशत फोलेट होता है। इसके अलावा चुकंदर में कई अन्य तरह के पोषक तत्व भी बहुतायत में पाए जाते हैं। चुकंदर का इस्तेमाल सलाद, सब्जी और जूस के रूप में किया जा सकता है।

 

निभानपुदी सगुना

тенденции в макияже осень зима 2016отзывы полигон

Leave a Reply

Your email address will not be published.