ब्रेकिंग न्यूज़ 

”घर में सिंघम नहीं भीगी बिल्ली जैसा हूं’’–अजय देवगन चंद्र वशिष्ठ से खास बातचीत

प्रकाश झा और रोहित शेट्टी के लिए आप लकी स्टार रहे हैं। इन दोनों की कार्यशैली में क्या बड़ा फर्क पाते हैं ?
प्रकाश झा के साथ जब मैं जुड़ा, उस वक्त तक झा साहब कई हिट फिल्में दे चुके थे। कुछ साल पहले तक इंडस्ट्री में जोडिय़ों का बड़ा ट्रेंड था। नई फिल्म शुरू करने से पहले निर्माता उसी जोड़ी को लेते, जो कई सुपर हिट फिल्में दे चुके हों। झा साहब मेरे साथ भी फिल्में बनाते हैं और दूसरों के साथ भी। रोहित की पिछली फिल्म में मैं नहीं था, इसके बावजूद फिल्म किस स्पीड से बिजनेस कर रही है, इसे बताना जरूरी नहीं है। आज वक्त बदल चुका है। अगर कोई यह सोचता है कि किसी के साथ परमानेंट तौर से फिल्में करेगा, तो गलत है। झा साहब और रोहित की सोच और काम करने का तरीका पूरी तरह अलग है। झा साहब अपनी फिल्मों में असरदार ढंग से मैसेज देते है। कोई ‘सोशल कॉज’ उठाते है। दूसरी ओर रोहित कलरफुल, इंटरटेनर, मसाला अपने अंदाज की फिल्में बनाते हैं। ऐसा भी नहीं है कि रोहित की फिल्मों में सोशल मैसेज नहीं होता, लेकिन उनके कहने का अंदाज मजेदार और अलग होता है।

पहली बार रोहित ने आपके बिना फिल्म बनाई, तो आपको कैसा लगा?
मैंने अभी कहा, जरूरी नहीं है कि हम हर बार एक साथ काम करें। मेरा प्रोडक्शन हाउस है। रोहित के साथ दो-ढ़ाई सौ लोगों की पूरी टीम है, जो पूरे साल उसके साथ जुड़ी रहती है। हो सकता है कि आने वाले दिनों में रोहित साल में दो-तीन फिल्में बनाने लगें, क्योंकि उन्हें अपने स्टाफ को हर महीने सैलेरी देनी है। ऐसे में रोहित को ज्यादा काम करना होता है। और हां, जब हम दोनों एक साथ फिल्में करते है तो आप लोग कहते है कि क्या किसी दूसरे बैनर की फिल्म नहीं मिलती। मुझे अच्छा लगता है, जब रोहित किसी दूसरे प्रोडक्शन हाउस स्टार के साथ हिट फिल्म बनाते हैं। रोहित ऐसे किसी एग्रीमेंट में नहीं बंधे हैं कि बस मेरे साथ ही फिल्म बनानी है।

चर्चा है कि रोहित ने ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ बनाने का पहला प्रपोजल आपको दिया था …
बिल्कुल, हम दोनों अक्सर मिलते हैं और कई तरह की बातें हमारे बीच होती हैं। मुझे याद है कुछ साल पहले रोहित ने मुझे बताया था कि डायरेक्टर के. सुभाष ने उन्हें एक मजेदार स्क्रिप्ट दी है। इसी स्क्रिप्ट पर रोहित और उसकी टीम ने लंबे वक्त तक काम करके चेन्नई एक्सप्रेस तैयार की है। इस दौरान मैं दूसरे प्रोजेक्ट में व्यस्त था। रोहित के साथ कई फिल्में करने के बाद, साजिद खान के साथ एक फिल्म कर रहा था। यही वजह रही कि इस स्क्रिप्ट पर हम कोई फाइनल डिसीजन नहीं ले पाए।

अब, जबकि रोहित की इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर कमाई और कामयाबी का नया अध्याय रचा है, कैसा लगता है आपको?
दिल से कहता हूं, बेहद खुश हूं मैं। ऐसा इसलिए नहीं कि यह करिश्मा रोहित ने किया है। कुछ साल पहले तक जब कोई फिल्म 100 करोड़ रुपए कमाती थी, तो लगता था कि कोई करिश्मा हो गया। अब यही आंकड़ा तीन-चार सौ करोड़ रुपए को टच करने लगा है तो बहुत अच्छा लग रहा है। आने वाले दिनों में बॉलीवुड निर्माताओं की फिल्में बॉक्स ऑफिस पर हॉलीवुड फिल्मों को टक्कर देने की स्थिति में होगी।

‘यू, मी और हम’ के बाद काजोल ने एक बार फिर कैमरे से दूरी क्यों बना ली?
अच्छा हो कि आप यही सवाल मेरी तरफ से कभी काजोल से करें। दरअसल, काजोल को घर में न्यासा और युग के साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त गुजारना पसंद है। अंदरूनी तौर से मुझे भी इस बात की खुशी है कि काजोल हमारी फैमिली को अपना पूरा वक्त देती है। अब तो ऐसा लगता है कि मैं भी आप लोगों की तरह सुबह घर से बैग थामे, कमाने के लिए निकलता हूं और देर रात थका-टूटा जब घर पहुंचता हूं, तो काजोल के साथ पूरी फैमिली को खुश देखकर अपनी थकावट भूल जाता हूं।

क्या काजोल किसी स्क्रिप्ट पर काम कर रही हैं?
सच कहंू, तो पर्सनली तौर से मैं काजोल से ऐसी बातें पूछने की हिम्मत नहीं कर पाता। क्या कर रही हो, क्या करोगी, घर में मेरी हालत सिंघम की नहीं, बल्कि भीगी बिल्ली वाली होती है। हां, काजोल ने पिछले दिनों दो स्क्रिप्ट पर काम करने के बारे में मुझे बताया था। शायद अगले साल इनमें से किसी एक पर काम शुरू हो पाए। हां, मेरी प्रोडक्शन कंपनी काजोल की फिल्म बनाएगी, लेकिन उस फिल्म में मैं काम नहीं करूंगा।

अपने लंबे कैरिअर में आपने कभी यशराज कैंप और शाहरुख खान के साथ काम नहीं किया। क्या वजह है?
और बहुत से नाम हैं, जिनके साथ मैंने काम नहीं किया, लेकिन अब कर रहा हूं। पिछले पच्चीस साल में आज तक किसी के पास काम मांगने नहीं गया और आगे भी कभी जाने वाला नहीं हूं। हर महीने एक-आध स्क्रिप्ट पढऩे के लिए आती है, लेकिन करता वहीं हूं, जिसे करने के लिए दिल अंदर से गवाही देता है। मैं उसी के साथ काम करना चाहता हूं, जो मेरे साथ काम करने को बेताब होता है।

अगली फिल्म ….
एक बार फिर रोहित के साथ ‘सिंघम’ के सिक्वल पर काम शुरू करूंगा। वैसे भी मैं एक वक्त एक ही फिल्म करता हूं। जब तक वह फिल्म कंप्लीट नहीं हो जाती, दूसरी के बारे में मैं नहीं सोचता हूं। हां, इस बार रोहित के साथ कुछ नया करने की प्लानिंग है।

करीना कपूर के साथ आपकी केमिस्ट्री लोगों ने काफी पसंद की और करीना के साथ आपकी सभी फिल्में हिट रही हैं। सत्याग्रह से आपको क्या उम्मीद है?
हां, मैंने ‘ओमकारा’, ‘गोलमाल-2’, ‘गोलमाल-3’ जैसी फिल्में करीना के साथ की हैं और ये सभी फिल्में दर्शकों को पसंद आई हैं, लेकिन मैं इसका क्रेडिट स्क्रिप्ट को देना चाहूंगा। मुझे उम्मीद है कि सत्याग्रह की कहानी भी लोगों को पसंद आएंगी।

 

चंद्र वशिष्ठ से खास बातचीत

игровой ноутбук hpэлектростанция аренда

Leave a Reply

Your email address will not be published.