ब्रेकिंग न्यूज़ 

सिद्धिबुद्धिप्रदे देवि…महालक्ष्मी नमोस्तुते

सिद्धिबुद्धिप्रदे देवि…महालक्ष्मी नमोस्तुते

यूं तो किसी को किस्मत से ज्यादा या कम नहीं मिलता, लेकिन कई बार अनेक बाधाओं के कारण भी किस्मत में लिखी धन-समृद्धि प्राप्त नहीं हो पाती। हालांकि कुछ खास उपाय करके महालक्ष्मी की अनुकंपा को प्राप्त किया जा सकता है।

संसार में हर प्राणी धन-संपदा की चाहत रखता है, लेकिन लक्ष्मी की कृपा सौभाग्यशाली लोगों को ही प्राप्त हो पाती है। धन की देवी लक्ष्मी की दया-दृष्टि सब पर एक समान नहीं पड़ती जिसके कारण लोगों का जीवन सुख-सुविधाओं से वंचित रह जाता है। मां लक्ष्मी की असीम अनुकंपा सब पर बनी रहे, उसके लिए महाभारत, शिवपुराण और अन्य ग्रंथों में लक्ष्मी को प्रसन्न करने के कई उपाय वर्णित किए गए र्हैं। उन्हीं उपायों में से कुछ छोटे-छोटे उपाय यहां बताए जा रहे हैं, जो अपकी जिंदगी को धन-समृद्धि और वैभव से भर देंगे।

शाम को जलाएं दीपक
यदि आप चाहते हैं कि लक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहे तो हर रोज शाम (गोधूली बेला) को अपने घर के मुख्य द्वार पर दीपक जलाएं। शाम के समय महालक्ष्मी पृथ्वी का भ्रमण करती हैं और जिस घर के द्वार पर देवी के स्वागत के लिए दीपक जलाया जाता है, वे वहां अवश्य निवास करती हैं।

रंगोली बनाएं
हर रोज मुख्य दरवाजे के सामने रंगोली बनानी चाहिए। रंगोली देवी-देवताओं के सम्मान और स्वागत के लिए बनाई जाती हैं। जिन घरों के सामने सुंदर रंगोली बनाई जाती है, वहां सभी देवी-देवताओं की कृपा बनी रहती है। इस उपाय से घर के कई वास्तु दोष भी दूर होते हैं।

घर में करें गौमूत्र का छिड़काव
प्रतिदिन घर में गौमूत्र का छिड़काव करना चाहिए। इस उपाय से वातावण में मौजूद सभी नाकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है, घर का महौल पवित्र होता है, वास्तु दोष दूर होते हैं। यदि हर रोज छिड़काव संभव न हो तो सभी त्योहारों पर और शुभ मुहूर्त में पूर्णमासी और अमावस पर अवश्य करना चाहिए।

घर का वातावरण सुगंधित होना चाहिए
घर का वातावरण सुगंधित रखना चाहिए। इसके लिए सुबह-शाम सुगंधित अगरबत्ती या धूप जलाएं। जिन स्थानों पर बदबू आती रहती है, वहां नाकारात्मक ऊर्जा बढ़ जाती है। ऐसे स्थानों पर रहने वाले लोगों को मानसिक  तनाव  और स्वस्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए घर को सुगंधित रखें। इसके प्रभाव से परिवार के सदस्यों का मन प्रसन्न रहेगा। धूप-अगरबत्ती, कपूर और चंदन से घर को सुगंधित रखें। सुगंध देवी-देवताओं को आकर्षित करती है।

रोज करें पूजा
घर के मंदिर में रखी प्रतिमाओं की रोज विधिवत पूजा की जानी चाहिए। यदि इनकी पूजा रोज नहीं की जाती है, तो घर में वास्तु दोष बढ़ता है और लक्ष्मी कृपा भी प्राप्त नहीं हो पाती। शास्त्रों के अनुसार घर के मंदिर में नियमित पूजन करने से भी अक्षय पूर्ण की प्राप्ति होती है और घर की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो कर सकारात्मकता बढ़ती है।

शाम के समय सोना नहीं चाहिए
शाम के समय सोने से लक्ष्मी घर से लौट जाती है। शाम के समय सोना महालक्ष्मी के प्रति अनादर का भाव प्रकट करता है। यदि कोई व्यक्ति अस्वस्थ है या वृद्ध है तो शाम के समय सो सकता है। साथ ही गर्भवती स्त्री भी शाम को विश्राम कर सकती है। स्वस्थ लोगों को शाम को नहीं सोना चाहिए। यह समय पूजन के लिए श्रेष्ठ होता है, अत: इस समय शयन का त्याग करना चाहिए।

शाम के समय शिवलिंग के पास जलाएं दीपक
हर रोज सूर्यास्त के समय शिवलिंग के पास दीपक जलाना चाहिए। शिवपुराण के अनुसार शाम के समय शिवलिंग के पास दीपक जलाने से अक्षय पूर्ण की प्राप्ति होती है।

यह उपाय करने वाले भक्त पर शिवजी की विशेष कृपा बनी रहती है। शिवजी के प्रसन्न होने से धन संबंधी कार्यों में आ रही बाधाएं दूर हो जाती है।

शाम को पूरा घर करें रोशन
शाम के समय पूरे घर को रोशन करना चाहिए। घर के किसी कोने में अंधेरा नहीं होना चाहिए। यदि अधिक समय तक घर में रोशनी नहीं रह सकती, तो कुछ देर के लिए ये उपाय किया जा सकता है। अंधेरे से वास्तु दोष उत्पन्न होता है। वास्तु दोष वाले स्थान पर लक्ष्मी निवास नहीं करती।

घर में रखें साफ-सफाई

घर को साफ एवं स्वच्छ रखें। घर में कचरा या मकड़ी के जाले दिखाई नहीं देने चाहिए। जहां गंदगी रहती है वहां देवी लक्ष्मी वास नहीं करतीं। अस्वच्छ स्थान पर दरिद्रता का वास होता है।        (उदय इंडिया ब्यूरो)

система управления клиентами crmРедирект 302

Leave a Reply

Your email address will not be published.