ब्रेकिंग न्यूज़ 

स्वामी शान

स्वामी शान

वही अपने सुब्रह्मण्यम स्वामी। जब से राज्यसभा में आए हैं, न जाने कितनों की नीद हराम हो गई है। वित्तमंत्री जेटली भी कम तंग नहीं हैं। स्वामी भाई ने संसद के सेंट्रल हॉल में बिना उनका नाम लिए हमला बोल दिया। वह भी कांग्रेसी जयराम रमेश की चुटकी पर। जब से स्वामी ने मुंह खोला है, कईयों के चेहरे उतर गए हैं। कुछ पत्रकार भाईयों के भी चेहरे सूज आए हैं। क्योंकि, स्वामी ने दावा किया है कि जल्द ही उनके भी करोड़पति बनने का मामला वह उठाएंगे।



पीके की गुगली


22-05-2016

पीके यानी प्रशांत किशोर। कांग्रेसियों का नया सिरदर्द हैं। वह भी ठंडा-ठंडा कूल-कूल। एक ही झटके में राहुल बाबा को पीएम से सीएम बना दिया। पंजाब के कैप्टन अमरिंदर सिंह का बुखार उतरवा दिया, उत्तर प्रदेश में कांग्रेस प्रभारी मधुसूदन मिस्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल खत्री की नींद हराम कर दी है, लेकिन सब चुप हैं। पता सबको है कि पीके चाहे जो कर लें, लेकिन न तो कुछ पंजाब में और न ही यूपी में होने वाला है। पर, पीके हैं कि गुगली पर गुगली दिए जा रहे हैं।



मास्टरस्ट्रोक


22-05-2016

जब से अपने लालू भाई चुनाव लडऩे के आयोग्य हुए हैं, खुलकर मास्टरस्ट्रोक लगा रहे हैं। अभी लालू भाई चाहते हैं कि नीतीश कुमार 2019 में देश के पीएम बन जाएं। नीतीश भी यही चाहते हैं। चुनांचे लालू भाई इस अभियान को लगातार हवा दे रहे हैं। लालू को पता है कि पीएम, वीएम तो बन नहीं पाएंगे, लेकिन इससे सोनिया पुत्र राहुल और नीतीश कुमार का दिमागी बुखार जरूर उतर जाएगा।



तेजस्वी का तेज


22-05-2016

बिहार में इन दिनों लालू के छोटे बेटे तेजस्वी का तेज चल रहा है। बड़े बेटे तेजप्रताप यादव साइड हो लिए हैं। वहीं तेजस्वी के मंत्रालयों के विज्ञापन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी नजर नहीं आते। लालू को तेजस्वी में जहां अपना अक्स नजर आता है, वहीं सुना है तेजस्वी अब पांव पसारने लगे हैं। आगे का हाल तो राजनीति ही बताएगी।



माया मिली न राम


22-05-2016

चौधरी अजीत सिंह यानी मेहनत पूरी और नतीजे में सन्नाटा। पहले नीतीश कुमार को राज्यसभा सीट के लिए साध रहे थे। बाजार थोड़ा चढ़ा तो कमल की टहनी पकड़कर लटक गए। देखा माल चोखा है तो अपने लिए कैबिनेट और बेटे के लिए डिप्टी सीएम का पद मांगने लगे। अब सुन रहे हैं छत्तरपुर के फार्म हाउस में बैठकर माला फेर रहे हैं। नौकर भी घर की घंटी बजा रहा है तो उन्हें अमित शाह का संदेशा नजर आ रहा है। वाह चौधरी वाह।



सेंट्रल हॉल में अकेले आडवाणी


22-05-2016आडवाणी जी पूरे एक साल बाद सेंट्रल हॉल में आए। आधे सदस्य भौचक्के रह गए। कुछ देर आडवाणी जी बैठे थोड़ी गुफ्तगू की, जो पास आया।  फिर उठे, अकेले-अकेले चले गए। यह वक्त जानता है, जीवनभर आडवाणी ने केवल दो की सुनी। एक तो संघ के नियम-कायदे की और दूसरी जयंत और प्रतिभा की मां।



आएंगे लड्डू


22-05-2016

मुलायम पुत्र अखिलेश को पता है कि हाथ में लड्डू आएंगे। या तो लालू प्रसाद, कांग्रेस, जद(यू) को लाकर महागठबंधन बनवाकर, भाजपा को सत्ता से दूर रखने की आवाज उठाक कर दिलावएंगे या फिर पीएम मोदी के प्रेम से नूर बरसेगा। सत्ता मिलेगी दोबारा। लिहाजा मुलायम पुत्र अखिलेश तोल-मोलकर चल रहे हैं।



बढ़ी खुशामद


22-05-2016

जब से एचआरडी मंत्री स्मृति ईरानी स्टेबल हुईं हैं, खुशामद बढ़ गई है। अब तो भाजपा महिला ब्रिगेड भी सल्यूट करने लगी है। नकवी जी भी मुस्करा कर सलामी ठोंकते हैं। इतना ही नहीं मंत्रालय के अफसर भी अगाड़ी-पिछाड़ी देखकर गुणगान करने लगे हैं। बताते हैं इन दिनों संघ ने भी थोड़ा सा गुस्सा थूक दिया है।


вк рекламаработа медсестрой в германии для русских

Leave a Reply

Your email address will not be published.