ब्रेकिंग न्यूज़ 

उमा को स्वामी का सहारा

उमा को स्वामी का सहारा

उमा भारती को राम मंदिर के लिए सुब्रामण्यम स्वामी का सहारा मिल गया है। स्वामी ने राम मंदिर बनवाने की मुहिम जो छेड़ रखी है। वह भी अयोध्या में। उमा ने जिस तरह स्वामी का साथ दिया है उससे भी फुसफुसाहट तेज हो गई है। भाई लोग इसका भी मतलब निकाल रहे हैं।



माया न 3 में और न 13 में


19-06-2016

मायावती और उनकी बसपा न तो 3 में है और न 13 में। प्रशांत किशोर के अनुसार कांग्रेस का मुकाबला भाजपा से है। भाजपा के अनुसार उसका उत्तर प्रदेश में मुकाबला सपा से है और सपा का कहना है कि वही भाजपाईयों को सत्ता में आने से रोक सकती हैं। ऐसे में बहन जी की चिंता बढ़ गई हैं। आखिर  उनसे कोई मुकाबला क्यों नहीं कर रहा है। जबकि बसपा का दावा है कि अबकी बारी हाथी की पारी।



राजन ने बचा लिया


19-06-2016

सुब्रामण्यम स्वामी चाहे जितना राजन को टारगेट करें लेकिन, मोदी जी खुश हैं। पीएम मान रहे हैं कि राजन ने अपनी न चलाई होती तो बैंकों का घाटा और ज्यादा होता। खबर है कि पीएम राजन की सेवाएं चाहते हैं और रघुराम राजन अमेरिका जाने की तैयारी में हैं। देखिए आगे होता है क्या?



तो कब किए एमबीए


भाजपा में एक खबर लोगों को हैरान कर रही है। सांसद निशिकांत दूबे की एमबीए की डिग्री को लेकर सुगबुगाहट तेज है। निशिकांत ने अपने सीवी से लेकर चुनावी हलफनामे में बता रखा है कि उन्होंने 1993 में दिल्ली विश्वविद्यालय से एमबीए(पार्ट टाइम) किया है। जबकि विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना है कि उस साल इस नाम के न तो किसी व्यक्ति ने एमबीए में दाखिला लिया था और न ही पास हुआ। जल्द ही यह बम फूटने वाला है।



जौहर दिखाएंगे चौधरी


19-06-2016

जद(यू), सपा व भाजपा, के खेमों से निराश होकर चौधरी अजीत सिंह ने जौहर दिखाने का निर्णय ले लिया है। राज्यसभा तो मिली नहीं अब दमखम के साथ चुनाव लडेंगे। जयंत चौधरी हाल ही में राहुल गांधी से मिलकर आए हैं। बताते हैं वहां भी अभी स्थिति जीरो बटा सन्नाटा है। देखिए आगे क्या होता है।



शाह भाई का जलवा


19-06-2016

असम विधानसभा चुनाव ने प्रधानमंत्री और अमित शाह की छवि को बदलकर रख दिया है। अब सभी लोग एक सुर में शाह भाई को कुशल राजनीतिकार मानने लगे हैं। यहां तक कि उत्तर प्रदेश के कुछ कद्दावर विरोधी नेता भी पस्त हो गए हैं। उन्हें भी लगने लगा है जो भी धारा के साथ बहकर मिल जाए वही सही।



मेरा क्या होगा?


19-06-2016

जब से राहुल बाबा को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की बात चली है, पार्टी के बड़े बुढ़ऊ नेता हैरान हैं। हैरानी का कारण भी है। राहुल बाबा युवा टीम चाहते हैं। ऐसे में कईयों की छुट्टी होने वाली है। ऐसे में खबरें हैं कि  अधिकांश 5 तुगलक लेन (राहुल आवास) पर टकटकी लगाए हैं। क्या पता राहुल बाबा उन्हें ही सही सम्मान दे दें।



कोई तो पूछो


19-06-2016

वरूण बाबू यानी अपने गांधी ठंडे से पड़े हैं। उनके नाम की कोई सुगबुगाहट नहीं है। उनकी मां मेनका भी हैरान हैं। जबकि, वरुण भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से भी मिल चुके हैं। मां-बेटे दोनों का मानना है कि वरूण में सीएम बनने की कूबत है। पार्टी भी वरूण के चेहरे पर अच्छा स्कोर करेगी, लेकिन पार्टी है कि अभी बुत पड़ी है। वरूण के मामले में पत्ता ही नहीं खोल रही है।


пастор владимир мунтян биографиявзлом

Leave a Reply

Your email address will not be published.