ब्रेकिंग न्यूज़ 

भविष्यवाणी आपकी किस्मत की

भविष्यवाणी आपकी किस्मत की

मैं भविष्यवक्ता हूं, अकेला आपका नहीं, सबका। आज तक मेरी कोई भविष्यवाणी गलत नहीं हुई। आप कहेंगे कि मैं अपने ही मुंह मिंया मिट्ठू बन रहा हूं, लेकिन सच तो सच है। सच बोलना तो पाप नहीं है। क्या आप मुझ से अपेक्षा रखते हैं कि मैं झूठ बोलूं? फिर झूठ बोलना तो पाप है। मुझे पूरी उम्मीद है कि आप मुझसे झूठ बोलने की न उम्मीद रखते हैं और न कहेंगे, क्योंकि आप भी तो सच्चे-सुच्चे इनसान हैं जिन्होंने अपने जन्म में झूठ बोलने का पाप नहीं कमाया। मुझे पता है कि आप मुझसे झूठ बोलने की आशा कभी नहीं रखेंगे। इसलिए मैं सच ही बोल रहा हूं। यदि सच और वह भी बराबर सच बोलना अपने मुंह मिंयां मिट्ठू बनना माना जाये तो मैं क्या कर सकता हूं?

मैं तो आपकी किस्मत पढ़ता हूं, बनाता नहीं। मैं तो वही बताता हूं जो विधाता ने आपके लिये लिखा है, निर्धारित किया है। आपका शनि या मंगल आपकी जन्म कुंडली में ऐसे स्थान पर विराजमान है कि वह आपको नुक्सान पहुंचायेगा ही, तो मैं कुछ नहीं कर सकता। आखिर मैं ईश्वर से बड़ा तो हूं नहीं जिसने आपका जीवन निर्धारित किया है। मैं तो वही पढ़ूंगा जो भगवान ने आपके लिये  लिखा है।

मैं जन्म कुंडली देखता हूं। आपकी हस्त रेखायें भी पढ़ सकता हूं। आपके माथे पर क्या लिखा है, उसकी भी व्याख्या कर सकता हूं। आपको अपनी पसंद का कोई फल या फूल लाने को भी कह देता हूं। जब आप उसे लेकर मेरे पास आते हैं, तो उससे भी मैं आपके अतीत, वर्तमान और भविष्य का ब्यौरा दे सकता हूं।

आप पूछेंगे कि जब मैंने आपको देखा नहीं, पहचाना नहीं, आपकी कुंडली देखी नहीं, आपके हाथ की लकीरें पढ़ी नहीं, तो आपका भविष्य कैसे जान लेता हूं? मेरे मेहरबान, इसे ही तो हुनर कहते हैं। अगर यह न होता तो लाखों लोग, देश-विदेश से भी, लाइन में घंटों-घंटों मेरे दरबार में खड़े न रहते। मेरे ऊपर जनता की आस्था है, विश्वास है तभी वह दूर-दूर से इतने पैसे खर्च कर मेरे पास आते हैं। मैं यहां बैठकर भी आपके माथे पर जो लिखा है, उसे पढ़ सकता हूं। आपकी कुंडली भी मैं यहीं बैठकर पढ़ सकता हूं। मैं आपको चुनौती देता हूं, कि आप सब मेरी एक भी भविष्यवाणी गलत साबित कर दिखाइये।

आप एक बहुत सच्चे-सुच्चे इनसान हैं – बेहद ईमानदार, बहुत मेहनती। झूठ तो आप बोल ही नहीं सकते। आपके मुंह पर भी वही है, जो आपके मन में है। आप कभी किसी का बुरा नहीं कर सकते, कोई करवाना चाहे तब भी नहीं। आप जो भी हैं स्वयं बने हैं, अपने बल और परिश्रम से किसी के एहसान से नहीं। आपको अभी बहुत आगे जाना है। आपके पास घोड़ा-गाड़ी सब कुछ होगा। यदि अभी नहीं है तो आप जल्दी ही एक गाड़ी खरीदेंगे। यदि आपके पास आगे ही एक गाड़ी है तो आप उससे बढिय़ा एक गाड़ी लेने की सोच रहे हैं और वह आपको अवश्य प्राप्त होगी।

यदि आप अविवाहित हैं तो शीघ्र ही आपकी शादी हो जायेगी। आपके घर एक सुंदर-सुशील गृहलक्ष्मी आएगी जो आपके घर को स्वर्ग बनाकर रख देगी और आप महसूस करेंगे कि आप इसी जन्म में स्वर्ग के वासी हो गये हैं। आपके कम-से-कम एक लड़का और एक लड़की होगी जो आपका और आपके परिवार का नाम रोशन करेंगे। यदि आपकी धर्मपत्नी गर्भवती हैं तो मैं दावे से कह सकता हूं कि वह या तो पुत्ररत्न को या भाग्यवती सुपुत्री को जन्म देंगी।

आप अपना  घर बनाने की कोशिश कर रहे हैं, आप निश्चित रहिये आपकी यह मनोकामना भी समय से पूर्व पूर्ण होगी।

आपने किसी से कुछ लिया नहीं है। आपने तो बस दिया ही है। आप उदार व खुले मन के हैं पर किसी को उधार मत दीजिये। यदि आप देंगे तो पैसा आपको वापस नहीं मिलेगा और उल्टे दोस्ती दुश्मनी में बदल जायेगी। इस बात से सावधान रहें। आप तो जानते ही हैं कि उधार ऐसी कैंची है जो दोस्ती व रिश्ते को काट कर रख देती है।

आप बहुत सफल व्यक्ति हैं, इसलिये आप से कुछ लोग ईष्र्या रखते हैं। वह कोई और नहीं, आपके बहुत करीबी रिश्तेदार व दोस्त ही हैं, उनसे सावधान रहें। उनमें से एक महिला या पुरुष है।

आप बहुत भोले हैं। आपको धोखा-फरेब नहीं आता। आप अपने मन की बात सब को बता देते हैं। इसका लोग लाभ उठाते हैं। वह आपके विरुद्ध षड्यंत्र भी रच देते हैं जिस कारण आपकी योजनाएं धरी की धरी रह जाती हैं। इस आदत से अपने-आप को बचाएं।

आपके पास जो भी आता है आप उस पर विश्वास कर बैठते हैं। आप उसकी हर संभव सहायता करने का पूरा प्रयास करते हैं। आपकी जुबान पर ना तो है ही नहीं। इस कारण लोग आप को उल्लू बना कर अपना उल्लू सीधा कर लेते हैं। ऐसे चापलूसों से बचें।

आपके माता-पिता तो साक्षात् भगवान हैं। उनका आप पर बड़ा आशीर्वाद है। आप उन्हें सदा प्रसन्न रखें। उनकी सेवा में कोई कमी न होने दें। आपको सब सुख-सुविधा प्राप्त होगी। यदि वह स्वर्ग सिधार गये हैं तो उनका ध्यान करते रहिये। उन्हें समय-समय पर याद करते रहें।

आप अपनी और अपने परिवार के बारे अपनी योजनायें किसी से साझा न करें। जिन्हें आप अपना सब से नजदीकी व हितैषी मानते हैं, वह ही आपकी इन सब योजनाओं को विफल करने वाले सिद्ध होंगे।

आप सब पर विश्वास कर लेते हैं। आप सबको अपनी ही तरह सरल और निष्कपट समझते हैं। वास्तव में ऐसा नहीं है। सभी आपकी तरह सरल और ईमानदार नहीं होते। आप किसी पर तब तक विश्वास न करें जब तक कि आपके प्रति उसकी निष्ठा पर आपको पूरा विश्वास न हो जाये। समय-समय पर इस विश्वास की परख अवश्य करते रहें। ऐसा न हो कि किसी पर आपका अति विश्वास ही आपके लिये परेशानी का कारण बन बैठे।

आपका व्यक्तित्व अति सुंदर व सबको आकर्षित करने वाला है। सब आपके समीप आना चाहते हैं, विशेषकर महिलायें। आप तो नटखट कृष्णजी की तरह सबको प्रिय हैं, सब के चहेते। आप उनकी ही तरह छैल-छबीले हैं। सब आपकी ओर आकर्षित होकर रह जाते हैं। पर इतना अवश्य याद रखिये कि न तो आप स्वयं भगवान कृष्ण हैं और न आपकी महिला मित्र उस काल की गोपियां।

आप अपने बच्चों के बारे कुछ परेशान रहते हैं। यह आजकल के वातावरण की देन है। आप निश्चिंत रहिये। समय बड़ा बलवान है। समय पर स्वयं इसका समाधान निकल आयेगा। जिस समस्या का आप हल नहीं निकाल सकते या जिस स्थिति को आप बदल नहीं सकते उसे ईश्वर पर छोड़ दो। वह स्वयं इसे संभाल लेंगे। ईश्वर पर विश्वास रखें। वह सब भला करेंगे। आपका कल्याण होगा। यही मेरी आशा और प्रार्थना है।

मेरे विचार में बहुत कुछ इतना ही है जो आप अपने भूत, वर्तमान व भविष्य के बारे जानना चाहते हैं। मैं आपके बारे में और भी बहुत कुछ जानता हूं और बता सकता हूं पर आप जानते हैं कि सब का अपना-अपना जीवन होता है व्यक्तिगत। उसे सार्वजनिक कर देना मैं अपने पावन कर्तव्य के विरुंद्ध समझता हूं। कुछ चीजें ढंकी रहें इसी में सब की भलाई है। हां, आप मुझ से मिलना चाहें और अपने बारे में कुछ और जानना चाहें तो उदय इंडिया के माध्यम से संपर्क कर सकते हैं। मैं हर समय तैयार हूं।

यदि आपको लगे कि आप – जैसा कि मैंने लिखा है – एक सुशील, समझदार, ईमानदार व निष्कपट सज्जन नहीं हैं, तो मुझे अवश्य  सूचित करें। ईश्वर आपका कल्याण करे। ओम शान्ति, शान्ति!

купить недорогой ноутбук в украинеооо полигон

Leave a Reply

Your email address will not be published.