ब्रेकिंग न्यूज़ 

अजब खेल के गजब खिलाड़ी, अजीबोगरीब हालात…

अजब खेल के गजब खिलाड़ी, अजीबोगरीब हालात…

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर और पिछले दो साल तक टीम इंडिया के डायरेक्टर के रूप में काम करने वाले रवि शास्त्री खुद को कोच के रूप में नहीं चुने जाने पर नाराज हैं। इंटरव्यू के दिन शास्त्री थाइलैंड में थे और स्काईपी के जरिए इंटरव्यू दे रहे थे। जबकि क्रिकेट समिति के सदस्य वीवीएस लक्ष्मण और चीफ को-ऑर्डिनेटर संजय जगदाले मुंबई में थे। रिपोटर्स के अनुसार शास्त्री के साथ टॉम मूडी और अनिल कुंबले भी मुख्य कोच की रेस में शामिल थे और समिति ने शास्त्री का नाम बल्लेबाजी कोच के लिए प्रस्तावित किया था।

शास्त्री ने भी मुख्य कोच के लिए आवेदन किया था। क्रिकेट समिति के सामने 21 जून को हुए इंटरव्यू में उन्होंने अपना प्रजेंटेशन भी दिया, साथ ही बैंकाक से अपना इंटरव्यू दिया था।

बीसीसीआई ने बताया कि उन्हें आखिर मुख्य कोच क्यों नहीं बनाया गया। क्रिकेट सलाहकार समिति जिसमें सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण और सौरव गांगुली शामिल थे, ने बीसीसीआई के सामने शास्त्री को बतौर बल्लेबाजी कोच के रूप में नियुक्त करने का सुझाव दिया था, लेकिन बोर्ड भारतीय टीम के लिए मुख्य कोच का चयन चाहता था।

17-07-2016बोर्ड सचिव ने कहा कि मीटिंग सात-आठ घंटे तक चली थी, और विचार ऊपर से जा रहे थे। हमने सभी पेशेवर तरीकों को अपनाया है, मुख्य कोच के पास अपना सपोर्ट स्टाफ होगा। बीसीसीआई ने पारदर्शिता, पेशेवराना और उत्कृष्ठता को तरजीह दी है।

अपनी फिरकी से बल्लेबाजों को खूब छकाने वाले अनिल कुंबले बंगलुरू में मुख्य कोच के रूप में पहली बार नजर आए। उन्होंने मुख्य कोच चयन विवाद पर दो टूक कहा कि इस बात का कोई मतलब नहीं है कि वह या रवि टीम इंडिया के कोच हैं, टीम के लिए सफलता जरूरी होती है।

गुरप्रीत चले यूरोपा लीग

भारतीय फुटबॉल टीम के गोलकीपर गुरप्रीत सिंह यूरोपा लीग के शीर्ष क्लब की तरफ से खेलने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। स्टावीक एफ सी की ओर से वेल्स के क्लब के खिलाफ गुरप्रीत चोटिल होने के कारण केवल 28 मिनट तक ही मैदान पर रहे यूरोपा लीग का स्थान यूएफा चैंपियंस लीग से  कम होता है। गुरप्रीत ने कहा, ‘मुझे गर्व है लेकिन साथ ही थोड़ी निराशा भी है कि हाथ में चोट लगने की वजह से मुझे बाहर होना पड़ा। लेकिन यह खेल का हिस्सा है और हम इसमें कुछ नहीं कर सकते।’


गुड बाय मेस्सी


1280x720-9bh

अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर लियोनल मेस्सी ने इंटरनेशनल फुटबॉल से संन्यास ले लिया है। कोपा अमेरिका टूर्नामेंट के फाइनल मैच में चिली से हारने के बाद मेस्सी ने संन्यास की घोषणा की। फाइनल मैच में मिली हार के बाद मेस्सी मैदान पर ही रोने लगे थे। 2014 वल्र्ड कप, 2015 कोपा अमेरिका और इस बार कोपा अमेरिका के फाइनल में पहुंचने के बावजूद मेस्सी अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके और अपने इस दुख को वो लोगों से भी छिपा नहीं सके और मैच के बाद मैदान पर फूट-फूटकर रोने लगे।

अर्जेंटीना के महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना और देश के राष्ट्रपति मौरिसियो मैक्री ने लियोनल मेस्सी से आग्रह किया कि वह राष्ट्रीय टीम को नहीं छोड़े। सन्यास के कुछ दिन बाद ही मेसी और उनके पिता को टैक्स धोखाधड़ी के मामले में कोर्ट ने 21 माह जेल की सजा सुनाई और उन पर करीब 15 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया। चूंकि यह सजा दो साल से कम की है और न तो लियोनेल मेसी तथा न ही उनके पिता जोर्गे का कोई आपराधिक रिकॉर्ड रहा है, इसलिए उन्हें जेल जाने की जरूरत नहीं होगी। यह सजा तीन टैक्स के मामलों में सुनाई है। इंटरनेशनल लेवल पर मेसी अर्जेंटीना के लिए खेलते थे जबकि क्लब और लीग लेवल पर स्पेन के बार्सिलोना के लिए खेलते हैं।


PAGE 44-45पदक की जद्दोजहद 

भारत की रियो ओलंपिक की सबसे बड़ी पदक उम्मीद सायना नेहवाल को तब झटका लगा जब जारी ताजा बैडमिंटन रैकिंग में वह एक पायदान खिसक कर पांचवें नंबर पर पहुंच गई हैं। ओलंपिक में एक और भारतीय उम्मीद पी वी सिंधू का 10 वां स्थान बरकरार है जबकि पुरुषों में किदाबी श्रीकांत 11वें और अजय जयराम 24वें स्थान पर बने हुए हैं। मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी दो स्थान गिरकर 23वें नंबर पर खिसक गए हैं। ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी को चार स्थान का नुकसान हुआ है और वह 16वें से 20वें नंबर पर खिसक गई हैं। ओलंपिक बैडमिंटन में सायना, सिंधू, ज्वाला-अश्विनी, श्रीकांत और मनु अत्री-बी सुमित रेड्डी भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे।

विश्व कप पर निशाना

संजीव राजपूत ने अजरबेजान के बाकू शहर मे चल रहे निशानेबाजी विश्व कप में भारत के लिए दूसरा पदक हासिल कर लिया है।

संजीव ने 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन में दूसरा स्थान हासिल करते हुए रजत अपने नाम किया। सात भारतीय निशानेबाज बाकू मे चल रहे विश्व कप के फाइनल में पहुंचे हैं जिसमे से जीतू और संजीव ने देश के लिए पदक हासिल किया। इस शानदार प्रदर्शन के बावजूद संजीव रियो में नहीं खेल पाएगा क्योंकि भारतीय राष्ट्रीय राइफ ल संघ ने उनका ओलंपिक कोटा बदल दिया था।

ब्लेडरनर’ जेल के अंदर

‘ब्लेडरनर’ के नाम से मशहूर ऑस्कर पिस्टोरियस ने रीवा (गर्लफ्रेंड) पर चार गोलियां दागी थी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी। एक वर्ष जेल की सजा काटने के बाद पिछले वर्ष अक्टूबर में पिस्टोरियस को रिहा किया गया था लेकिन अबकी बार उन्हें छह वर्ष की जेल की सजा सुनाई गई।

सौरभ अग्रवाल

полигон ооомини байки

Leave a Reply

Your email address will not be published.