ब्रेकिंग न्यूज़ 

चलें अपनी संस्कृति के साथ

चलें अपनी संस्कृति के साथ
  • घर में सुबह-सुबह कुछ देर के लिए भजन अवश्य गाएं।
  • घर में कभी भी झाड़ू को खड़ा करके नहीं रखें। उसे पैर नहीं लगाएं, न ही उसके ऊपर से गुजरे, अन्यथा घर में बरकत की कमी हो जाती है। झाड़ू हमेशा छुपाकर रखें।
  • बिस्तर पर बैठकर कभी खाना न खाएं। ऐसा करने से बुरे सपने आते हैं।
  • घर में जूते-चप्पल इधर-उधर बिखेर कर या उल्टे-सीधे नहीं रखने चाहिए। इससे घर में अशांति उत्पन्न होती है।
  • पूजा सुबह 6 से 8 बजे के बीच भूमि पर आसन बिछाकर पूर्व या उत्तर की ओर मुंह करके ही करनी चाहिए। पूजा का आसन जूट अथवा कुश का हो तो उत्तम होता है।
  • पहली रोटी गाय के लिए निकालें । इससे देवता भी खुश होते हैं और पितरों को भी शांति मिलती है।
  • पूजाघर में सदैव जल का एक कलश भरकर ईशान कोण के हिस्से में रखें।
  • आरती, दीप, पूजा, अग्नि प्रज्ज्वलन जैसे पवित्रता के प्रतीक साधनों को मुंह से फूंककर नहीं बुझाएं।
  • मंदिर में धूप, अगरबत्ती व हवन कुंड की सामग्री दक्षिण-पूर्व दिशा में रखें अर्थात आग्नेय कोण में।
  • घर के मुख्य द्वार पर दायीं तरफ स्वास्तिक बनाएं।

31-01-2015

 

  • घर में कभी भी जाले न लगने दें, वरना भाग्य और कर्म पर जाले लगने लग जाते हैं और बाधा आती है।
  • सप्ताह में एकबार जरुर समुद्री नमक अथवा सेंधा नमक से घर में पोछा लगाएं। इससे नकारात्मक ऊर्जा हटती है।
  • कोशिश करें कि सुबह के प्रकाश की किरणें सबसे पहले आपकी पूजाघर में जरुर पहुंचे।
  • पूजाघर में अगर कोई प्रतिष्ठित मुर्ति है तो उसकी पूजा हर रोज निश्चित रूप से हो, ऐसी व्यवस्था अवश्य करें।
  • पानी पीने का सही वक्त
  • सुबह उठकर 3 गिलास पानी पीना अंदरूनी उर्जा को शक्ति प्रदान करता है।
  • नहाने के बाद 1 गिलास पानी पीने से ब्लड प्रेशर का खात्मा होता है।
  • खाने से 30 मिनट पहले 2 गिलास पानी पीना से हाजमा को दुरुस्त रहता है।
  • सोने से पहले आधा गिलास पानी पीने से हार्ट अटैक का खतरा कम हो जाता है।

fb consultпроверка слов

Leave a Reply

Your email address will not be published.