ब्रेकिंग न्यूज़ 

item-thumbnail

संघ की आरक्षण-नीति : चुनाव नहीं, सामाजिक समरसता का लक्ष्य

0 September 15, 2021

यदि आज किसी से पूछा जाए कि भारत की सबसे बड़ी सामाजिक समस्या क्या है, तो कोई भी व्यक्ति बेझिझक कह देगा-जातीय भेदभाव। पिछले दो सप्ताह में जातिवार जनगणना...

item-thumbnail

जातीय जनगणना की माँग : राष्ट्रहित के बजाय राजनीति से प्रेरित

0 September 15, 2021

उन्नीसवीं सदी के अमेरिकी विचारक, पत्रकार और राजनेता हेनरी ए । वालेस ने राजनेताओं के बारे में कहा है कि उनका अंतिम उद्देश्य है राजनीतिक सत्ता हथियाना। ...

item-thumbnail

जाति जनगणना की जाति-राजनीति प्रेरित मांग

0 September 15, 2021

आजादी के आंदोलन के दौरान स्वाधीनता सेनानियों ने सपना देखा था कि स्वाधीन भारत में जातिवाद को जड़ से समाप्त कर दिया जाएगा। संविधान सभा में 11 दिसंबर 194...

item-thumbnail

जातिगत भेदभाव से बनेगा इक्कीसवीं सदी का भारत?

0 September 15, 2021

कहते हैं कि राजनीति में कुछ भी स्थाई नहीं होता लेकिन विगत कुछ वर्षों से भारत की राजनीति में भूचाल आना लगभग स्थाई सा हो गया है। ताज़ा भूचाल जातिगत जनगणन...

item-thumbnail

जातीय जनगणना : दोधारी तलवार

0 September 15, 2021

भाजपा को छोड़ कर धीरे-धीरे जातीय राजनीति करने वाले सारे राजनीतिक दल साथ खड़े हो रहे हैं। 2022 से पहले समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने बीजेपी ...

item-thumbnail

तालिबान और भारत : आशंका नहीं संकल्प का समय

0 September 3, 2021

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्ज़े के बाद भारत में ही नहीं पूरी दुनिया में भय, आशंका और अनिश्चय का माहौल हैं। अगर पाकिस्तान को छोड़ दिया जाए तो दुनिया क...

item-thumbnail

तालिबानी कब्जे में बदकिस्मत अफगानिस्तान

0 September 3, 2021

अफगानिस्तान में इन दिनों अफरातफरी का माहौल है। वजह है अफगानिस्तान में ठीक बीस साल बाद उस तालिबान की वापसी, जिसे अमेरिका की अगुआई में नाटो देशों की सेन...

item-thumbnail

अफगानिस्तान में तालिबान के आगमन से उपजा वैश्विक संकट

0 September 3, 2021

“मुल्क कों मुल्क न रहने देने का नाम है तालिबान। धर्म की सत्ता का नया नाम है तालिबान। लाशों के ऊपर धर्म का झंडा लगा देने का नाम है तालिबान। औरतों को बु...

item-thumbnail

औचित्य खोते वैश्विक संगठन

0 September 3, 2021

इसे क्या कहा जाए कि विश्व की महाशक्ति अमेरिका की सेनाएँ 20 साल तक अफगानिस्तान में रहती हैं, अफगान सिक्युरिटी फोर्सेज पर तकरीबन 83 बिलियन डॉलर खर्च करत...

item-thumbnail

अफगानिस्तान में तालिबान का तांडव

0 September 3, 2021

कहते हैं की बर्बाद ए गुलिस्तां करने को एक उल्लू काफी है, यहाँ तो हर शाख पर उल्लू बैठे हैं।  अफगानिस्तान की भी अभी यही हालत है। पिछले बीस सालों से जो भ...

1 2 3 73