ब्रेकिंग न्यूज़ 

item-thumbnail

सिकुड़ती प्रकृति, वन्यजीव एवं पक्षियों की दुनिया

0 March 4, 2021

मनुष्य इस दुनिया का एक हिस्सा है या उसका स्वामी? वर्तमान परिप्रेक्ष्य में यह एक अत्यंत महत्वपूर्ण प्रश्न बन गया है क्योंकि मनुष्य के कार्य-व्यवहार से ...

item-thumbnail

ग्लोबल वार्मिग का बढ़ता खतरा

0 February 17, 2021

वैश्विक तापमान यानी ग्लोबल वार्मिंग आज विश्व की सबसे बड़ी समस्या बन चुकी है। इससे न केवल मनुष्य, बल्कि धरती पर रहने वाला प्रत्येक प्राणी त्रस्त है। ग्...

item-thumbnail

ताजा पानी के मोती का उत्पादन

0 December 1, 2020

मोती एक प्राकृतिक रत्न है जो सीप से पैदा होता है। भारत समेत हर जगह हालांकि मोतियों की मांग बढ़ती जा रही है, लेकिन दोहन और प्रदूषण से इनकी संख्या घटती ...

item-thumbnail

भारत के लिए बढ़ती जल प्रबंधन की चुनौती और बाढ़ का खतरा

0 August 27, 2020

अभी तक हम कहते थे कि बिहार के लिए बाढ़ न्यू नार्मल है, लेकिन बाढ़ अब पूरे भारत के लिए ‘न्यू नार्मल’ हो गई है, जो हर साल आती ही है। मानसून की शुरुआत मे...

item-thumbnail

प्लास्टिक से मुक्ति नितांत आवश्यक

0 October 4, 2019

वैसे तो विज्ञान के सहारे मनुष्य ने पाषाण युग से लेकर आज तक मानव जीवन सरल और सुगम करने के लिए एक बहुत लंबा सफर तय किया है। इस दौरान उसने एक से एक वो उप...

item-thumbnail

जल संकट : आखिर हमसे चूक कहां हुई?

0 September 16, 2019

देश के विभिन्न शहरों में मई और जून के महीनों में तापक्रम में अबाध वृद्धि और पेय जल के लिए गली के नुक्कड़ों पर स्थित नलों, चापाकलों, कुंओं और सूखते नदी...

item-thumbnail

अनियमित मानसून गहराता जल संकट

0 August 12, 2019

दि  इंडियन मेटेरियोलोजिकल डिपार्टमेंट के आंकड़ों पर यकीन करें तो यह दुखद सच हमें चिंतिति कर जाता है कि देश में लगातार दो दशकों से औसतन मानसून की वर्षा...

item-thumbnail

सिमटता जल, उजड़ती धरती

0 May 1, 2019

सौरमंडल के सर्वाधिक पांचवें विशाल ग्रह और प्राय: 4000 मील की त्रिज्या और 70 फीसदी जल से आप्लावित नीले रंग की धरती महज एक भौगोलिक पिंड नहीं है, बल्कि इ...

item-thumbnail

क्या इस कीमत पर विकास सोचा था आपने?

0 December 20, 2018

आज जब दिल्ली की हवा में प्रदूषण के स्तर ने विश्व के सभी रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए तो इस बात को समझ लेने का समय आ गया है कि यह आज एक समस्या भर नहीं रह गई ह...

item-thumbnail

प्रदूषण रहित धरती हो लक्ष्य!

0 February 19, 2017

धरती का अस्तित्व रखने वाले सभी जीवों का प्रकृति से सीधा संबंध है। प्रकृति में हो रही उथल-पुथल का प्रभाव सब पर पड़ता है। मनुष्य की छेड़छाड़ की वजह से प...

1 2 3