item-thumbnail

बजट 2020 की तीन वैचारिक विशेषताएं

0 February 11, 2020

बजट वर्ष भर की सबसे बड़ी आर्थिक घटना होती है। साधारणत: उसे आय-व्यय के लेखे-जोखे और नीति दस्तावेज की तरह देखा जाता है। सारा संकेद्रण किस वर्ग को क्या म...

item-thumbnail

भारत के लिए क्या लेकर आया सीतारमण का बजट

0 July 10, 2019

सबसे पहली बात, केंद्रीय बजट जो सरकार की आमदनी और खर्चे का ब्योरा होता है और जिसे हर साल पेश किया जाता है, उसे किसी वित्त वर्ष में आर्थिक प्रगति की दिश...

item-thumbnail

सहभागी विकास का ‘बिग आईडिया’ बजट

0 July 10, 2019

विश्व का आर्थिक इतिहास इस बात का साक्षी है कि अक्सर चुनौतीपूर्ण स्थितियों में ही बेहतरीन आर्थिक नीतियां रची गई हंै। भारत भी इसका अपवाद नहीं है। ‘...

item-thumbnail

मोदी सरकार-2 का पहला बही-खाता

0 July 10, 2019

मोदी-2 सरकार का पहला बजट यानि यूं कहे बही-खाता भारत की पहली पूर्णकालीन वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन द्वारा संसद में पेश हो चुका है। वैसे तो सभी सरकारों...

item-thumbnail

आम बजट 2019 ‘गांधी के सपनों का भारत’

0 July 10, 2019

मुझे नहीं लगता कि पहले कभी एैसा बजट आया हो जिसमें गांधीवाद की पूरी झलक रही। महात्मा गांधी ने आजाद भारत के स्वरूप का एक सपना देखा और उसे मेरे सपनों का ...

item-thumbnail

उम्मीदों का बजट

0 February 8, 2017

बड़े बदलाव वाला, धमाकेदार, साहसी, सपनों का बजट जैसे अनेक विशेषण हम अमूमन सालाना बजटों के बारे में सुनते आए हैं। उदारीकरण के दौर में ये उपमाएं वैश्विक ...

item-thumbnail

बजट 2017-18; दिशा सही लेकिन उम्मीद से कम

0 February 8, 2017

विमुद्रीकरण की समस्याओं से जूझते आम आदमी को बजट 2017-18 से बड़ी उम्मीदें थी। यदि उस दृष्टि से देखें तो लगता है कि यह बजट कुछ कम रह गया। आयकर में छूट क...