ब्रेकिंग न्यूज़

item-thumbnail

कलेजे के टुकड़े को गिरवी रखने की मजबूरी

0 August 7, 2019

कभी एक हृदय स्पर्शी प्रसंग बहुचर्चित था-एक युवक एक युवती से बेहद प्यार करता था। विवाह के लिए युवती ने अजीब शर्त रखी-यदि तुम अपनी मां का कलेजा (हृदय) ल...

item-thumbnail

प्रचंड गर्मी सुविधावादियों की देन

0 June 12, 2019

इन दिनों लगभग पूरा देश प्रचंड गर्मी की चपेट में है। करीब दो तिहाई जनसंख्या इसका कहर झेल रही है। देश भर में गर्मी के कारण अनेक लोगों की मौत हो चुकी है।...

item-thumbnail

आतंक का अंत आक्रमण

0 March 30, 2019

आखिर वर्षों से जिहादियों की दिनचर्या से भयभीत व पीडि़त राष्ट्रवादी समाज को जैश-ए-मोहम्मद के गढ़ पाकिस्तान स्थित बालाकोट पर विनाशकारी हवाई स्ट्राइक के ...

item-thumbnail

वैश्विक राजनीति में भारत की बदलती भूमिका

0 March 30, 2019

ये वो नया भारत है जो पुराने मिथक तोड़ रहा है, ये वो भारत है जो नई परिभाषाएं गढ़ रहा है, ये वो भारत है जो आत्मरक्षा में जवाब दे रहा है ये वो भारत है जि...

item-thumbnail

विकृत जीवन शैली का परिणाम परीक्षा का तनाव

0 March 12, 2019

जब भी परीक्षा के तनाव के बारे में चर्चा होती है तो एक साथ कई विचार तेज आंधी की तरह बड़ी तेजी से जेहन में गुजरता-सा चला जाता है। एक विचित्र-सा डर, भ्रम...

item-thumbnail

सामाजिक असंतोष को बढ़ाती रोजगार से आय की यह विसंगती

0 February 20, 2019

देश में गरीबी रेखा से उपर आने वाले लोगों की संख्या में बढ़ोत्तरी के साथ ही दिन प्रतिदिन अरबपतियों की संख्या में इजाफा होने के समाचारों के बीच आम आदमी ...

item-thumbnail

सेहत से खिलवाड़ जुड़ी खबरों पर दबाव क्यों

0 January 27, 2019

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कराये गये शोध में यह दावा किया गया है कि मधुमेह रोगियों के लिए शुगर फ्री उत्पाद भी चीनी जैसे नुकसानदेह हैं। ब्रिटिश मेडिक...

item-thumbnail

कर्ज माफी सत्ता की चाबी?

0 January 10, 2019

तीन राज्यों में विधानसभा चुनावों के नतीजों के परिणामस्वरूप कांग्रेस की सरकार क्या बनी, न सिर्फ एक मृतप्राय अवस्था में पहुंच चुकी पार्टी को संजीवनी मिल...

item-thumbnail

तम्बाकू महामारी जो उद्योग इसके लिए जिम्मेदार हो, उसकी जन स्वास्थ्य में कैसे भागीदारी?

0 January 10, 2019

विश्व स्वास्थ्य संगठन की 2014 में महानिदेशक डॉ. मार्गरेट चैन ने वैश्विक तम्बाकू नियंत्रण संधि बैठक में सरकारों से कहा था कि ‘लोमड़ी को मुर्गों क...

item-thumbnail

हदिया जैसी लडकियां लव नहीं जिहाद का शिकार डॉ. नीलम महेंद्र

0 December 14, 2017

परिवर्तन तो संसार का नियम हैं। व्यक्ति और समाज के विचारों में परिवर्तन समय और काल के साथ होता रहता है, लेकिन जब व्यक्ति से समाज में मूल्यों का परिवर्त...

1 2 3 5